म्यूचुअल फंड क्या होता है-mutual fund kya hota hai in hindi 2023

अगर आप भी जानना चाहते हैं की mutual fund kya hota hai, यह कैसे काम करता है, म्यूच्यूअल फंड कितने प्रकार के होते हैं, 2023 में किन म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्ट करना चाहिए, म्यूच्यूअल फंड के फायदे और नुकसान क्या है, सबसे अधिक रिटर्न देने वाले म्यूच्यूअल फंड कौन से हैं, म्यूच्यूअल फंड अधिकतम कितना रिटर्न दे सकते हैं तो आप इस आर्टिकल के अंत तक बने रहे आपके म्यूच्यूअल फंड से संबंधित सभी प्रशन हल हो जाएंगे!

यह भी पढ़ें-शेयर मार्केट क्या है – share market kya hai in hindi 2023

म्यूच्यूअल फंड पैसा कमाने का एक अच्छा जरिया होता है म्यूचुअल फंड में पैसा लगाने के लिए जरूरी नहीं है कि आपके पास हजारों रुपए हो आप सिर्फ ₹500 प्रति महीने भी इसमें इन्वेस्ट कर सकते हैं बहुत से लोग म्युचुअल फंड और शेयर मार्केट को एक ही समझते हैं लेकिन ऐसा नहीं है म्यूच्यूअल फंड और शेयर मार्केट दोनों ही मार्केट का हिस्सा है लेकिन इन दोनों में बहुत फर्क है!

जहां शेयर मार्केट में बहुत अधिक फायदा हो सकता है उसके साथ उसमें रिस्क भी बहुत ज्यादा होता है वही म्यूच्यूअल फंड में फायदा तो शेयर मार्केट से कम होता है लेकिन रिस्क भी शेयर मार्केट की तुलना में बहुत ही कम है!

म्यूचुअल फंड क्या होता है-mutual fund kya hota hai

म्यूच्यूअल फंड एक ऐसा फंड होता है इसमें बहुत सारे इन्वेस्टर्स का पैसा म्यूच्यूअल रूप से रखा जाता है अगर मैं आपको आसान सी भाषा में बताऊं म्यूच्यूअल फंड बहुत सारे लोगों के पैसों से बना हुआ एक फंड होता है जिसमें लगाया गया पैसा अलग-अलग जगहों पर इन्वेस्टमेंट करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है और कोशिश यह की जाती है कि निवेशकों को उनकी रकम का ज्यादा से ज्यादा मुनाफा पहुंचाया जाए!

म्यूचुअल फंड में फंड को मैनेज करने का काम एक प्रोफेशनल के द्वारा किया जाता है जिसको प्रोफेशनल फंड मैनेजर कहा जाता है प्रोफेशनल फंड मैनेजर का काम फंड की देखरेख करना और फंड के पैसों को सही जगह पर लगाकर ज्यादा मुनाफा करवाना होता है अगर मैं आपको आसान सी भाषा में बसाऊं तो प्रोफेशनल फंड मैनेजर का काम लोगों के द्वारा लगाए गए पैसे को मुनाफे में बदलना होता है!

म्यूच्यूअल फंड किस के अंदर रजिस्टर्ड है?

म्यूच्यूअल फंड SEBI यानी कि सिक्योरिटी एंड एक्सचेंजर बोर्ड ऑफ इंडिया के अंदर रजिस्टर्ड है जो कि भारत में शेयर मार्केट को कंट्रोल करने का काम करता है इन्वेस्टर्स के द्वारा लगाए गए पैसे को सिक्योर रखने का काम SEBI का होता है SEBI के द्वारा सुनिश्चित किया जाता है कि कहीं कोई कंपनी लोगों के साथ धोखा तो नहीं कर रही है इसलिए म्यूच्यूअल फंड में धोखे की संभावना काफी कम होती है!

म्यूच्यूअल फंड भारत में काफी लंबे समय से मौजूद है लेकिन लोगों के पास इसके बारे में जानकारी नहीं है शुरुआती दिनों में लोगों की यह धारणा बन गई थी कि म्यूचुअल फंड सिर्फ अमीरों के लिए होता है लेकिन आज के समय लोगों की धारणा बदल गई है और लोगों का रुझान म्यूच्यूअल फंड की ओर बढ़ रहा है म्यूच्यूअल फंड में हर कोई सिर्फ ₹500 से इन्वेस्ट कर सकता है म्यूचुअल फंड में इन्वेस्टमेंट के लिए मिनिमम अमाउंट सिर्फ ₹500 होता है

म्यूच्यूअल फंड के फायदे-

  • म्यूचुअल फंड में लगाया गया पैसा प्रोफेशनल फंड मैनेजर द्वारा मैनेज किया जाता है प्रोफेशनल फंड मैनेजर के पास एक अच्छा एक्सपीरियंस होता है वह आपके पैसे उन्हीं जगह पर इन्वेस्ट पड़ता है जहां उसको बढ़ोतरी दिखती है!
  • म्यूच्यूअल फंड का दूसरा फायदा है diversification है सेफ इन्वेस्टमेंट का मूल मंत्र है अपनी इन्वेस्टमेंट को एक जगह ना कर कर बहुत जगह बांट दो यानी कि म्यूचुअल फंड आपके पैसों को अलग-अलग सेक्टर की कंपनियों में निवेश करता है!
  • म्यूच्यूअल फंड का तीसरा सबसे बड़ा फायदा variety है म्यूचुअल फंड में हर तरह के लोगों के लिए अलग-अलग variety मौजूद है यानी कि ज्यादा रिटर्न की चाह रखने वालों के लिए ज्यादा रिटर्न वाले फंड और सिक्योर फंड वालों के लिए सिक्योर फंड मौजूद है यानी कि म्यूचुअल फंड में हर तरह के फंड में इन्वेस्ट कर सकते हो!
  • म्यूच्यूअल फंड का चौथा सबसे बड़ा फायदा है convenience यानी की सुविधा यानी आप जितनी आसानी से फंड में इन्वेस्ट कर सकते हैं इतनी आसानी से पैसों को फंड से बाहर भी निकाल सकते हैं!
  • म्यूच्यूअल फंड का पहुंच में सबसे बड़ा फायदा होता है यह सस्ता होता है जबकि शेयर मार्केट में आपको बड़ी कंपनियों के शेयर बहुत महंगे मिलते हैं जबकि आप म्यूच्यूअल फंड में सिर्फ ₹500 से इन्वेस्टमेंट सकते हो!
  • म्यूच्यूअल फंड का छठवां सबसे बड़ा फायदा टैक्स बेनिफिट है म्यूचुअल फंड में टैक्स शेयर मार्केट की तुलना में बहुत कम लगता है!
  • म्यूच्यूअल फंड एक सिक्योर प्रोसेस है इसकी पूरी देखरेख SEBI करता है जो कि एक गवर्नमेंट संस्था है!

म्यूच्यूअल फंड कितने प्रकार के होते हैं

म्यूच्यूअल फंड मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं!

equity mutual fund-

इक्विटी म्यूच्यूअल फंड एक लंबे समय का इन्वेस्टमेंट प्लान होता है इक्विटी म्यूचुअल फंड में आपका पैसा शेयर मार्केट या स्टॉक मार्केट में लगाया जाता है इसमें ज्यादा रिटर्न मिलने की संभावना रहती है लेकिन शेयर मार्केट में आने वाले उतार-चढ़ाव के कारण यह रिस्की भी होता है! इक्विटी म्यूचुअल फंड में रिटर्न शेयर मार्केट पर निर्भर करता है इसमें इन्वेस्टमेंट हमेशा long-term करना चाहिए! अगर आप इसमें 5 साल या ज्यादा समय के लिए इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं तो यह प्लान आपके लिए अच्छा है!

Debt mutual fund-

Debt mutual फंड को mid-trem इन्वेस्टमेंट प्लान भी कहते हैं अगर आप म्यूचुअल फंड में ज्यादा सेव करना चाहते हैं वह रिस्क नहीं लेना चाहते हैं तो यह म्यूच्यूअल फंड आपके लिए अच्छा है Debt mutual फंड का पैसा गोल्ड, मनी मार्केट, सिक्योरिटीज और गवर्नमेंट बांड में इन्वेस्ट किया जाता है इसमें समय की कोई बाध्यता नहीं होती है आप जब चाहे इसमें पैसा लगा सकते हैं और निकाल सकते हैं! अगर आप इसमें 3 से 5 साल पैसा इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो यह आपके लिए एक अच्छा विकल्प है!

हाइब्रिड म्युचुअल फंड-

हाइब्रिड म्युचुअल फंड को इक्विटी म्युचुअल फंड और Debt म्यूच्यूअल फंड का मिक्सर भी कर सकते हैं हाइब्रिड म्युचुअल फंड का पैसा इक्विटी और Debt दोनों ही म्यूच्यूअल फंड की कैटेगरी में इन्वेस्ट किया जाता है यानी इस फंड का पैसा शेयर मार्केट, गोल्ड मनी, मार्केट सिक्योरिटीज, गवर्नमेंट बॉन्ड और कॉरपोरेट बॉन्ड में लगाया जाता है! हाइब्रिड म्युचुअल फंड इक्विटी म्युचुअल फंड से कम रिस्की और Debt म्यूच्यूअल फंड से अधिक जिसकी होता है!

2023 के लिए बेस्ट म्यूच्यूअल फंड-

  • HDFC sensex BSE
  • mirrae Asset NYSE Fang ETF
  • Parag Parikh tax saver
  • Parag Parikh flexi cap
  • Axis long term
  • Axis Small cap fund
  • Kotak equity Oppourtunies fund

म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट कैसे करें Video-

म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट कैसे करें Video

अधिक जानने के लिएhttps://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%AE%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A5%82%E0%A4%9A%E0%A5%81%E0%A4%85%E0%A4%B2_%E0%A4%AB%E0%A4%82%E0%A4%A1

Sharing Is Caring:

Leave a Comment