Intraday Trading Tips Hindi | 6 बेहतरीन टिप्स इंट्राडे में गलतियों से बचने के लिए

आज के इस आर्टिकल में मैं आपको ऑप्शन ट्रेडिंग की उन गलतियों को बताने जा रहा हूं जिन गलतियों को आप करते रहेंगे आपको लॉस होता रहेगा और जब आप इन गलतियों को करना बंद कर दोगे उसके बाद आपको लॉस होना बहुत कम हो जाएगा और आप ज्यादातर प्रॉफिट में ही रहेगी!

Intraday Trading Tips Hindi |

  • पूरा पैसा एक ही ट्रेड में नहीं लगाना चाहिए!
  • ट्रेलिंग स्टॉप लॉस का उपयोग करना चाहिए!
  • बिना किसी स्ट्रैटजी के ट्रेड नहीं करना चाहिए!
  • लंबे समय तक पोजीशन को होल्ड कर कर नहीं रखना चाहिए!
  • ओवरट्रेडिंग करने से बचें!
  • कभी भी लोन लेकर ट्रेडिंग नहीं करना चाहिए!

पूरा फंड एक ही ट्रेड में लगा देना-

पहली और सबसे बड़ी गलती जो ज्यादातर लोग करते हैं वह यह है कि ज्यादातर लोगों के पास जितना फंड होता है वह सहारा एक ही ट्रेड में लगा देते हैं और यह सबसे बड़ी गलती होती है क्योंकि अगर आपको लॉस हो जाता है तो उसके बाद आपके पास ट्रेड करने के लिए फंड ही नहीं होगा और आप दोबारा फंड ऐड भी करेंगे तभी आप दोबारा वही गलती करेंगे और आपको बार-बार लॉस होता ही रहेगा!

यह भी पढ़ें-intraday trading tips in hindi | 10 बेहतरीन ट्रेडिंग साइकोलॉजी टिप्स हिंदी

Ex-मान लीजिए आपने ₹10000 से ऑप्शन ट्रेडिंग करना स्टार्ट किया अगर पहले दिन ही आपको लॉस हो गया तब तो सब खत्म क्योंकि आपके पास फंड ही नहीं होगा दोबारा ट्रेड करने के लिए लेकिन मान लेते हैं कि आपकी किस्मत अच्छी थी पहले दिन ट्रेड करने पर आपको ₹5000 का प्रॉफिट हो गया यानी कि अब आपके पास ₹15000 हो गए

अब दूसरे दिन आप पूरे 15000 लगाकर ट्रेड करेंगे अब मान लीजिए दूसरे दिन भी आपको प्रॉफिट हो गया अब 15000 की 22000 हो गए और ऐसे कुछ दिन तक आपको लगातार प्रॉफिट होता गया और आपके 10000 के ₹50000 हो गए!

अब क्योंकि आपके पास जितना पैसा होता है वह सारा पैसा आप ट्रेड में लगा देते हैं तो अब आप ₹50000 लगाएंगे और हमेशा तो आपको प्रॉफिट होता नहीं रहेगा और मान लेते हैं इस बार आपको ₹15000 का लॉस हो गया! अगर आपने स्टॉप लगाया है तो अगर आपने स्टॉपलॉस नहीं लगाया है तो आपके पूरे 50000 का भी लॉस हो सकता है!

तो मान लेते हैं कि आपको ₹15000 का लॉस हो गया अब आपके पास ₹35000 बचे है अब आप फिर से पूरा ₹35000 लगाकर दोबारा ट्रेड लेंगे अब मान लेते हैं आपको फिर से 20000 का लॉस हो गया तो अब आप लॉस को रिकवर करने के चक्कर में और ट्रेड लेंगे!

और ऐसा करते करते ज्यादातर लोग जितना प्रॉफिट कमाते हैं उससे ज्यादा लोस करवा लेते हैं! क्योंकि जितना बड़ा अमाउंट होगा उतना बड़ा प्रॉफिट होगा परंतु उतना ही बड़ा लॉस होगा और जब प्रॉफिट होता है तो हम खुश होते हैं लेकिन जैसे ही लॉस होता है हम अपने इमोशन कंट्रोल नहीं रख पाते और ज्यादा अमाउंट पूरा लोस करवा लेते हैं!

तो यहां पर सही तरीका यह है कि आपको अपनी पूरे फंड का उपयोग एक ट्रेड में नहीं करना है अगर आप ₹10000 से शुरू करें तो आपको एक ट्रेड में 2-4 हजार रुपए तक ही एक ट्रेड में लगाना चाहिए!

ट्रेलिंग स्टॉप लॉस का उपयोग ना करना-

दोस्तों स्टॉपलॉस के बारे में तो आपको पता ही होगा कि अगर आपने ₹500 का शेयर खरीदा और 490 का स्टॉपलॉस लगाया तो अगर शेयर की प्राइस गिरती है तो 490 पर आपका शेयर अपने आप फेल हो जाएगा और आपको सिर्फ ₹10 का लॉस होगा उससे ज्यादा नहीं होगा! जबकि आपने स्टॉपलॉस नहीं लगाया होगा तो आपके पूरे पैसे का लॉस हो सकता है तो स्टॉप लॉस हमारे लॉस को लिमिट करता है!

ऐसे ही ट्रेलिंग स्टॉप लॉस भी स्टॉप लॉस ही है इसमें हमें अपना स्टॉप लॉस बदलते रहना होता है मान लीजिए ₹500 का शेयर खरीदा और 490 का स्टॉप लॉस लगाया लेकिन इस बार शेयर की प्राइस बढ़कर ₹520 हो गई तो अब आपको अपना स्टॉप लॉस 490 पर ही नहीं रखना है उसको बढ़ाकर 510 पर लगा देना तो जब आप ऐसा करेंगे तो आपको लॉस होने की संभावना 0% हो जाएगी

क्योंकि आपने ₹500 में शेयर खरीदा है और अभी शेयर की प्राइस बढ़कर ₹520 यानी किया पहले से प्रॉफिट में है और अब आपका स्टॉपलॉस 510 पर है तो अब आपके शेयर की प्राइस गिरती भी है तो 510 पर आपका शेयर सेल हो जाएगा और आपको ₹10 का प्रॉफिट हो जाएगा क्योंकि आपने ₹500 में शेयर खरीदा है!

अब मान लीजिए शेर की प्राइस बढ़कर ₹550 हो गई तो अब आपको स्टॉप लॉस और बढ़ा देना है अब आप अपनी स्टॉपलॉस को 530 कर सकते हो और ऐसे जब तक आप के शेयर की प्राइस बढ़ती रहती है तब तक आप अपना स्टॉप लॉस बढ़ा सकते हो इससे आपके लॉस होने की संभावना 0% हो जाएगी और आप को अधिकतम प्रॉफिट होगा!

बिना किसी स्ट्रैटजी के ट्रेड करना-

तीसरी सबसे बड़ी गलती होती है कि आप बिना किसी स्ट्रैटजी क्या ट्रेड करते हो अगर आप किसी भी इंडेक्स या स्टॉक की put और call यह देखकर खरीद रहे हैं कि उसकी प्राइस बढ़ रही है तो ज्यादातर केस में हो सकता है कि जैसे ही आप खरीदें उसके बाद प्राइस गिरने लग जाए क्योंकि आपने रजिस्टेंस के पास खरीद लिया हो!

तो आपको ट्रेडिंग करते वक्त किसी ना किसी स्ट्रैटजी का उपयोग जरूर करना है चाहे वह सपोर्ट रेजिस्टेंस हो, कैंडलेस्टिक पेटर्न, इंडिकेटर हो, चार्ट पेटर्न या फिर कोई अन्य प्राइस एक्शन पेटर्न!

लंबे समय तक पोजीशन बना के रखना-

दोस्तों चौथी सबसे बड़ी गलती है ऑप्शन ट्रेडिंग में लंबे समय तक पोजीशन बनाकर रखना जब आप कई बार ट्रेड लेते तो उसके बाद कई बार मार्केट साइडवेज़ हो जाता है या फिर आप रोज में चल रहे होते इस कारण आप सुबह से शाम तक एक ही ट्रेड में अटके रह जाते हैं और कई बार तो लोग और ओवरनाइट ऑप्शन होल्ड कर लेते हैं यह सोच कर शायद प्रॉफिट हो जाए तो यह एक बहुत बड़ी गलती है!

क्योंकि ऑप्शन ट्रेडिंग में टाइम के साथ साथ ऑटोमेटिक ऑप्शन की प्राइस कम होती जाती है इसलिए जितने लंबे टाइम तक आप ट्रेड को होल्ड करके रखेंगे उतना ही ज्यादा आपको लॉस होने की संभावना बढ़ती जाती है!

इसलिए आपको अपनी पोजीशन को ज्यादा देर होल्ड कर कर नहीं रखना और एक निश्चित स्टॉपलॉस लगा के रखना है!

ओवरट्रेडिंग करना-

दोस्तों पांचवीं सबसे बड़ी गलती है ओवरट्रेडिंग करना, कई लोग एक बार लॉस हो जाने पर इमोशन में आकर लॉस को रिकवर करने के लिए बार-बार ट्रेड लेते हैं जिसके कारण वह बहुत बड़े लॉस में चले जाते हैं क्योंकि आप इमोशन में आकर सही डिसीजन नहीं लेते!

इसलिए इसलिए आप ट्रेड तब ही ले जब आपको कोई ना कोई ट्रेडिंग सेटअप बनता नजर आ रहा हो!

लोन लेकर ट्रेडिंग करना-

आपको कभी भी लोन लेकर ट्रेडिंग और इन्वेस्टमेंट नहीं करना चाहिए अगर आप लोन लेकर या किसी से पैसे लेकर ट्रेड करते हो तो आप अपने इमोशन को कंट्रोल में नहीं रख पाते जैसे ही आपको लॉस दिखाई देगा आप डरने लगेंगे और उस डर की वजह से आपको लॉस होगा और फिर आप उस लॉस को रिकवर करने के लिए आप बिना सोचे समझे डर में डिसीजन लेंगे जिससे आपका लॉस बढ़ता जाएगा और तब आप पैसे वापस नहीं कर पाएंगे और फिर एक बहुत बड़ी मुसीबत में फस जाओगे!

अधिक जाने के लिए-https://www.angelone.in/knowledge-center/intraday-trading/tips-strategies

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
× Course ke Liye contact kare