एल्गो ट्रेडिंग क्या है? Algo trading in hindi.

2015 में एक ऑप्शन ट्रेडर ने 28 मिनट में 2.4 मिलियन डॉलर यानी कि 18 करोड रुपए कमाए थे ऑप्शन ट्रेडिंग से 18 करोड कमाना कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन जिस तरीके से उसने यह पैसा कमाया वह बहुत ही दिलचस्प था

28 मार्च 2015 को Dana mattioli जो कि वॉल स्ट्रीम जर्नल की रिपोर्टर उन्होंने एक twitter पर twitt किया था कि intal की altera कंपनी को खरीदने की बात चल रही है इस twitt के 1 सेकंड बाद ही एक ऑप्शन ट्रेडर ने 0.35 डॉलर पर altera का आउट ऑफ द मनी ऑप्शन बाय कर लिया और जब 28 मिनट बाद उस ऑप्शन की प्राइस 8.5 डॉलर पहुंच गई तो उसने उसे बेच दिया और ऐसे उसने 28 मिनट में 2.4 मिलियन डॉलर यानी कि 18 करोड रुपए कमाए!

आपके दिमाग में भी सवाल आ रहा होगा कि कोई एक सेकंड में ट्रेड कैसे ले सकता है हम तो सोचने में भी दो-चार मिनट निकाल देते हैं सामान्य ट्रेडर जब ट्रेड लेता है तो दो-चार मिनट सोचता है फिर क्वांटिटी ऐड करता है फिर बाय करता है फिर फिर कंफर्म buy करता है तो इसमें भी 40-50 सेकंड तो जाएंगी ही परंतु उसने एक सेकंड में ट्रेड कैसे लिया!

यह भी पढ़ें-trading kya hai, ट्रेडिंग से पैसा कैसे कमाए?trading कितने प्रकार की होती है?

मैन्युअल रूप से तो यह ट्रेड लेना संभव नहीं है लेकिन एल्गो ट्रेडिंग द्वारा यह किया जा सकता है और उस ऑप्शन ट्रेडर ने भी एल्गो ट्रेडिंग का ही उपयोग किया था तो चलिए जानते हैं कि आखिर ये एल्गो ट्रेडिंग क्या है!

एल्गो ट्रेडिंग क्या है? what is algo trading in hindi

एल्गो शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है Algo यानी कि Algorithum यानी कि बनाए हुए रूल के आधार पर मैथमेटिकल कैलकुलेशन करना जैसे 4+4 भी एक Algorithum है और जब इन रूल का उपयोग करके हम ट्रेडिंग करते हैं तो इसे एल्गो ट्रेडिंग कहा जाता है!

एल्गो ट्रेडिंग में time, price और volume के आधार पर एक रूल बनाकर एक कंप्यूटर प्रोग्राम बनाया जाता है और इसका उपयोग करके ट्रेडिंग की जाती है मुझे लगता है कि आपको ज्यादा समझ में नहीं आया होगा पर घबराने की कोई बात नहीं है यह प्रोग्राम बना कैसे यह समझने से ज्यादा जरूरी है कि इसे ट्रेडिंग में उपयोग कैसे लिया जाता है!

Algorithum यानी कि जो कंप्यूटर प्रोग्राम होते हैं इनका उपयोग करके कोई ट्रेडर् ट्रेड लेता है तो इसे एल्गो ट्रेडिंग कहा जाता है!

Ex-मान लीजिए आप एक ऐसा प्रोग्राम बनाते हैं जिसमें आप यह लॉजिक रखते हैं कि जब भी किसी स्टॉक का 50 Days MA उसके 200 Days MA के ऊपर क्रॉस करता है तो उसकी 100 lot खरीदना है तो जब भी ऐसा होगा इस एल्गोरिदम के द्वारा आपके 100 lot कुछ ही सेकंड में buy हो जाएगी! इसमें एक्यूरेसी भी होगी और स्पीड भी होगी

जब हम ऐसे रूल बना लेते हैं तो यह होते हैं Algorithum और इन नियमों के आधार पर ही एल्गो ट्रेडिंग काम करती है!

एल्गो ट्रेडिंग के फायदे(benefits of algo trading)-

  • इसका फायदा यह है कि इसमें आप बहुत ही स्पीड सेंड ट्रेड ले सकते हैं जैसा कि उस ऑप्शन ट्रेडर ने किया था!
  • इसमें एक्यूरेसी बहुत ही ज्यादा होती है जिससे जो बड़े ट्रेडर है उनके लिए यह बहुत ही अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि एक भी पैसा ऊपर नीचे होने से उनका लाखों करोड़ों का नुकसान हो सकता है!

आपको क्या लगता है कि जो इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर होते हैं यह हमारी तरह मैनुअली ट्रेड लेते हैं नहीं, इनके पास Algorithum के आधार पर स्पेशल सॉफ्टवेयर होते हैं जिनके द्वारा ही इनके ट्रेड एग्जीक्यूट होते हैं क्योंकि इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स के पास कैपिटल बहुत अधिक होती है जिसके इनके लिए मैनुअल ट्रेड लेना संभव नहीं है!

क्या इंडिया में एल्गो ट्रेडिंग लीगल है-

हां, इंडिया में एल्गो ट्रेडिंग लीगल है और SEBI के द्वारा रेगुलेटेड भी है!

इंडिया में सबसे पहले 2008 में शुरू हुई थी लेकिन तब इसके द्वारा केवल इंस्टिट्यूशन ही ट्रेड करते थे लेकिन अब 2016 से इसे रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए भी खोल दिया गया है और आज मार्केट में 50% से ज्यादा लिक्विडिटी एल्गो ट्रेडिंग के कारण ही आती है लेकिन usa में यह नंबर 70% है!

एल्गो ट्रेडिंग कैसे और कहां करें-

आजकल जीरोधा, एंजेल वन upstox के अलावा ऐसे बहुत से ब्रोकर है जिन्होंने अपना API यानी कि एप्लीकेशन प्रोग्राम इंटरफेस जारी किया है इसके द्वारा आप और हम रिटेल ट्रेडर्स आसानी से एल्गो ट्रेडिंग कर सकते हैं!

एल्गो ट्रेडिंग के लिए API देने वाले ब्रोकर-

BrokerAPI infoTrading API ChargesBrokerage
ZerodhaKite Connect APIRs 2000 PMRs 20
UpstoxUpstox pro developer APIRs 750 PMRs 20
Angel OneAngel one Smart APIFreeRS 20
FyersFyers APIFreeRs 20
Pro StocksPro Stocks API-with Unlimited PlanRS 999 PMRs 15

इस टेबल में आपको साफ-साफ दिख रहा है कि Angel One यह सर्विस फ्री में प्रोवाइड करा रहा है अगर आप Angel One के द्वारा एल्गो ट्रेडिंग करना चाहते हैं इसके लिए आपको Angel One की Smart API वेबसाइट पर साइन अप करना होगा इसके बाद आपको Creat App पर क्लिक करना है इसके बाद आपको आपकी API key मिल जाएंगी!

एल्गो ट्रेडिंग स्ट्रेटजी (Algo trading Strategies)-

सिस्टमैटिक ट्रेडिंग (Systemtic trading)-

इसमें मैक्रोइकोनॉमिक्स फैक्टर्स को ध्यान में रखकर स्ट्रेटजी बनाई जाती है इसमें टेक्निकल इंडिकेटर, वॉल्यूम और रिस्क रिवर्ड रेश्यो को ध्यान में रखते हुए उसी डायरेक्शन में रेड ली जाती है जिस डायरेक्शन में मार्केट जा रहा है इसको स्ट्रेटजी ज्यादातर Hedge funds उपयोग में लेते हैं अगर हम भी इस स्ट्रेटजी का उपयोग करते हैं तो हम भी इंस्टिट्यूशन के साथ काफी मुनाफा कमा सकते हैं!

म्यूच्यूअल फंड-

जैसा कि आप जानते हैं म्यूच्यूअल फंड निफ्टी और सेंसेक्स जैसे इंडेक्स में भी इन्वेस्ट करते हैं तो जब भी कोई स्टॉक निफ्टी और सेंसेक्स में शामिल होता है तो इससे उस स्टॉक के पास इनडायरेक्टली म्यूच्यूअल फंड की कैपिटल आती है तो अगर कोई स्टॉक इंडेक्स में शामिल और निकल रहा है तो आप शामिल होने वाले स्टॉक में बुलिश पोजीशन और जो स्टॉक इंडेक्स से बाहर निकल रहा है उसमें आप bearish पोजीशन बना सकते हैं!

Mean Revergion-

यह एक मैथमेटिकल मॉडल इस मॉडल का कहना है कि जो चीज ऊपर जाती है वह नीचे भी आती है और जो चीज नीचे वह कभी ना कभी ऊपर भी जाती है अगर किसी किसी स्टॉक प्राइस एवरेज प्राइस नीचे ऊपर भी जा सकती है और किसी स्टॉक की प्राइस अपनी एवरेज प्राइस ऊपर है तो वह नीचे भी आ सकती है इस स्ट्रेटजी का उपयोग करते वक्त आप मूविंग एवरेज इंडिकेटर का यूज भी कर सकते हैं!

अधिक जानने के लिए-https://www.angelone.in/knowledge-center/online-share-trading/what-is-algo-trading-hindi

Sharing Is Caring:

Leave a Comment